*फ्री अपॉइंटमेंट*

मऊ में बवासीर (Piles) का इलाज | 1 दिन में अनुभवी डॉक्टरों से

  • कोई दर्द नहीं
  • कोई कट नहीं
  • एडवांस इलाज
  • अनुभवी डॉक्टर
  • 1 दिन में डिस्चार्ज

बवासीर के दर्दनाक परिस्थिति से हैं परेशान तो मऊ में आज ही कराएं दर्द रहित लेजर सर्जरी द्वारा उपचार

बवासीर क्या है?

गुदा या मलाशय के निचले हिस्से में सूजी और बढ़ी हुई रक्त वाहिकाओं को बवासीर कहते हैं। जो बवासीर गुदा के बाहर होती है उसे बाहरी बवासीर और जो गुदा के भीतर होती है उसे आंतरिक बवासीर कहते हैं।

बवासीर को चार ग्रेड में विभाजित किया गया है, ग्रेड को देखकर ही इसका इलाज किया जाता है।

  • ग्रेड 1: मल त्याग के दौरान मस्से प्रोलैप्स नहीं होते हैं। ब्लीडिंग हो सकती है।
  • ग्रेड 2 : पाइल्स का आकार बढ़ जाता है। मल त्याग के दौरान मस्से गुदा नहर के बाहर निकल आते हैं और मल त्याग के बाद खुद से अंदर चले जाते हैं।
  • ग्रेड 3: मल त्याग के समय मस्से गुदा से बाहर निकल जाते हैं और उन्हें अंदर धकेलना पड़ता है।
  • ग्रेड 4: मस्से बाहर की ओर रहते हैं और उठते-बैठते, सोते हर समय दर्द का कारण बनते हैं।

इलाज के लिए हम शहर में नंबर वन क्लीनिक हैं –

  • अनुभवी डॉक्टर
  • एडवांस लेजर उपकरण से इलाज
  • सभी प्रकार के इंश्योरेंस का लाभ
  • हॉस्पिटल में एडमिशन से लेकर डिस्चार्ज तक का पेपरवर्क
  • फ्री फॉलो अप
  • इलाज के लिए डॉक्टर तक जाने के लिए गाड़ी की फ्री सुविधा
pricing

इलाज में होने वाले खर्च से परेशान हैं?

आज ही फॉर्म भरें और लाभ उठाएं

1. किस्तों में उपचार की सुविधा (कोई ब्याज नहीं - No cost EMI)
2. इंश्योरेंस का लाभ और पेपरवर्क
3. निदान में 30% की छूट


मऊ में बवासीर के बेस्ट डॉक्टर – Mau me Piles ka ilaj ke liye Doctor

10 साल का अनुभव

डॉक्टर प्रतीक पोरवाल

एमबीबीएस/ एमएस/जनरल सर्जन

11 साल का अनुभव

डॉक्टर आशीष वोरा

एमबीबीएस/ एमएस/जनरल सर्जन

डॉक्टर अचल अग्रवाल

एमबीबीएस/ एमएस/जनरल सर्जन

इलाज करवा चुके रोगियों के रिव्यु

Main piles se 2 saal se pareshan tha, thank you to the team, laser surgery ke 2 din baad main sabhi normal kaam kar paa raha hu. Doctor ne poori dekhbhal ki.

Aabid

Aabid

Thank you so much, Mera Bahut acche se upchar hua. thanks to doctor for giving such treatment.

Sarthak

Sarthak

Bawaseer ki laser surgery se operation ke 3 din baad main acchee tarah se chal paa raha hu aur latrin karne men koi dikkat nahi hoti.

Manoj

Manoj

कारण:

  • निचले मलाशय में खिंचाव
  • पुरानी डायरिया या कब्ज
  • कोलन कैंसर
  • गर्भावस्था
  • फाइबर युक्त आहार न खाना या कम खाना
  • कठोर मल
  • मल त्याग के दौरान दबाव बनाना
  • पिछली रेक्टल सर्जरी
  • गुदा मैथुन

लक्षण :

  • गुदा क्षेत्र में खुजली और जलन
  • दर्द और असहजता
  • ब्लीडिंग
  • सूजन
  • दर्द रहित ब्लीडिंग
  • मल त्याग के दौरान मस्सों का बाहर आना

मऊ में बवासीर के लेजर उपचार की पात्रता

आप बवासीर की लेजर सर्जरी के लिए उपयुक्त हैं, यदि आपको है:

  • दूसरी ग्रेड की बवासीर का अंतिम चरण है
  • तीसरी ग्रेड का पाइल्स है
  • चौथी ग्रेड की पाइल्स का प्रारंभिक चरण है

निदान

जब आप मऊ में या किसी अन्य शहर में बवासीर का इलाज कराने जाएंगे तो गुदा रोग विशेषज्ञ निदान के लिए कुछ परीक्षण करेगा।

डॉक्टर एक ग्लव्ड और चिकनाई युक्त (lubricated) उंगली रोगी के गुदा के भीतर डालता है और सूजन को महसूस करता है। इसे डिजिटल रेक्टल एग्जामिनेशन कहते हैं।

आंतरिक पाइल्स अत्यंत नरम हो सकती है जिसके कारण रेक्टल एग्जामिनेशन द्वारा निदान हो पाना मुश्किल हो सकता है। इस परिस्थिति में चिकित्सक निम्न इमेजिंग टेस्ट कर सकते हैं:

  • सिग्मोइडोस्कोपी
  • प्रोक्टोस्कोपी
  • एनोस्कोपी

मऊ में पाइल्स का निदान के लिए हमारे पास सबसे लेटेस्ट मशीनें हैं जो सही परिणाम प्रदान करती हैं।

सर्जरी

बवासीर के लेजर ऑपरेशन से पहले रोगी को लोकल/जनरल एनेस्थीसिया में से कोई एक दिया जा सकता है और उसे ऑपरेशन रूम में ले जाया जाता है।

बवासीर के फैलाव और आकार के मुताबिक़ सर्जन लेजर बीम की फ्रीक्वेंसी सेट करता है, फिर लेजर किरणों को बवासीर के मस्सों पर छोड़ता है। इससे हेमोराइडल धमनियों में रक्त का प्रवाह रुक जाता है और मस्से सूख जाते हैं।

इलाज क्षेत्र में एक स्कार टिश्यू का निर्माण होता है जो बवासीर को पूरी तरह सिकोड़ देता है और बवासीर खुद ही गायब हो जाता है।

यह एक दर्द रहित प्रक्रिया है जिसमें आधा से एक घंटा का समय लग सकता है। ऑपरेशन के कुछ ही समय बाद रोगी को अस्पताल से छुट्टी दे दी जाती है। वहीं मऊमें पाइल्स का इलाज के लिए हमारे लेटेस्ट लेजर उपकरण का उपयोग के कारण उपचार में कोई जटिलताएं नहीं आती हैं।

अधिकतर पूछे गए प्रश्न

क्या बवासीर का उपचार के लिए सर्जरी जरूरी है?

ग्रेड 1 की पाइल्स का इलाज दवा और सही खान-पान के जरिए किया जा सकता है। उपचार शुरू होने के एक या दो हफ्ते बाद भी अगर मस्से कम नहीं होते हैं तो डॉक्टर से मिलना चाहिए।

पाइल्स की ओपन सर्जरी और लेजर सर्जरी में क्या बेहतर है?

ओपन हेमोराहाइडेक्टोमी की तुलना में लेजर प्रक्रिया अधिक प्रभावी है। ग्रेड 2 से लेकर चौथी ग्रेड के शुरूआती चरण तक के पाइल्स का इलाज करने के लिए लेजर तकनीक सबसे बेहतर है। पाइल्स के लेजर उपचार में पोस्ट-ऑपरेटिव दर्द की अवधि बहुत कम होती है। रिकवरी का समय भी कम है।

क्या मऊ में बवासीर का लेजर उपचार में इंश्योरेंस का लाभ मिलता है?

हमारी प्रोक्टोलॉजी क्लीनिक मऊ में पाइल्स का इलाज इंश्योरेंस के तहत करती है। अगर आपके पास बीमा के जरूरी कागजात हैं तो आप इसका फायदा उठा सकते हैं। इंश्योरेंस क्लेम और पेपरवर्क में हमारी टीम आपकी मदद करेगी और आपको कहीं भटकना नहीं पड़ेगा।

मऊ में पाइल्स का सबसे अच्छा लेजर ऑपरेशन कहां होता है?

कई हॉस्पिटल और डॉक्टर हैं जो मऊ में बवासीर का लेजर उपचार करते हैं। इलाज कराने से पहले आपको क्लीनिक का सक्सेस रेट और डॉक्टर के अनुभव का पता करना चाहिए। यदि एक अनुभवी गुदा रोग स्पेशलिस्ट पाइल्स का लेजर ट्रीटमेंट करता है तो जटिलताओं की संभावना कम होती है और स्थाई राहत मिलती है। मऊ शहर में हमारे अनुभवी डॉक्टर बवासीर का सबसे अच्छा लेजर ऑपरेशन करते हैं।

मेरी पत्नी गर्भवती है, क्या उसे बवासीर की लेजर सर्जरी करानी चहिए?

गर्भावस्था के दौरान पाइल्स का ऑपरेशन कराने से बचना चाहिए। अगर दर्द नहीं होता है तो महिला पाइल्स होने के साथ भी बच्चे को जन्म दे सकती है। यदि डॉक्टर को लगता है कि सर्जिकल ट्रीटमेंट की जरूरत है तो सिर्फ चुनिन्दा प्रक्रियाएं ही की जा सकती हैं।

बवासीर का ऑपरेशन की नवीतम तकनीक क्या है और क्या वह तकनीक लेजर सर्जरी से बेहतर है?

स्टेपलर तकनीक जिसे स्टेपल हेमोराहाइडेक्टोमी भी कहते हैं, यह पाइल्स का इलाज की सबसे नई तकनीक है। इसमें एक स्टेपलर डिवाइस का उपयोग होता है।
आमतौर पर लेजर सर्जरी में कोई जटिलताएं नहीं होती हैं जबकि स्टेपलर तकनीक से पाइल्स का उपचार कराने पर रेक्टल प्रोलैप्स, यूरिनरी रिटेंशन और बहुत दुर्लभ मामलों में सेप्सिस की समस्या हो सकती है। इसलिए बवासीर का लेजर उपचार अधिक सुरक्षित है।

बवासीर का लेजर ऑपरेशन के बाद रिकवरी कैसे होती है?

पाइल्स लेजर ट्रीटमेंट के बाद जल्दी रिकवर होने के लिए फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। आमतौर पर रोगी लेजर उपचार के दो दिन बाद से ही अपने दैनिक कार्यों को बिना किसी परेशानी के करने लगता है।
रिकवरी के दौरान दर्द नहीं होता है। कब्ज की शिकायत न हो इसके लिए डॉक्टर रेचक पदर्थों की सलाह दे सकता है। पूरी तरह से रिकवर होने में लगभग 2 हफ्ता लगते हैं।
हमसे इलाज कराने पर आपको फ्री फॉलो-अप की सुविधा मिलती है। इस सुविधा के अंतर्गत हमारे डॉक्टर आपके पूर्ण स्वस्थ होने तक आपकी देखभाल करते हैं।

मऊ में आपको हमसे इलाज क्यों करवाना चाहिए?

मऊ में आप हमसे बवासीर का लेजर ऑपरेशन करा सकते हैं, क्योंकि:
हमारे पास अधिक अनुभवी डॉक्टर
एडवांस लेजर डिवाइस और उपकरणों का उपयोग
बवासीर के पुनरावृत्ति की संभावना नहीं होगी
कोई जटिलता नहीं
केवल एक दिन की दर्द रहित प्रक्रिया
इलाज के प्रत्येक चरण में मदद और सुविधा
इंश्योरंस के अंतर्गत उपचार करा सकते हैं
नो-कॉस्ट ईएमआई में भी उपचार की सुविधा 

मेरे लिए पाइल्स का ऑपरेशन के लिए कौन सा उपचार विकल्प इलाज अच्छा रहेगा?

अगर आपको ग्रेड 1 का बवासीर है तो ऑपरेशन के लिए सर्जिकल प्रक्रियाओं की आवश्यकता नहीं है। मेडिकल ट्रीटमेंट जैसे सूजनरोधी गोलियां और टॉपिकल क्रीम से सफल इलाज किया जा सकता है।
उच्च ग्रेड का पाइल्स होने पर लेजर सर्जरी सबसे अच्छा उपहार विकल्प साबित हो सकता है। केवल एक दिन में यह आपके दर्द और सूजन को हमेशा के लिए दूर कर देता है।
आप किस ग्रेड के बवासीर से पीड़ित हैं, यह जानने के लिए हमें मुफ्त में अपॉइंटमेंट बुक कर सकते हैं।

मऊ के लोगों को बवासीर क्यों होता है?

मऊ के लोगों में पाइल्स की बढ़ती समस्या का मुख्य कारण मलाशय के निचले हिस्से में अत्यधिक खिंचाव है। यह खिंचाव कब्ज या मल त्याग के दौरान प्रेशर बनाने पर होता है। इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका है अपने मल को मुलायम बनाना।

आखिर मऊ में पाइल्स का इलाज के लिए लेजर सर्जरी ही क्यों

दरअसल, ओपन सर्जरी की तुलना में लेजर सर्जरी के कई फायदे होते हैं, इसलिए हमारे डॉक्टर मऊ में पाइल्स का जड़ से इलाज करने के लिए लेजर उपचार की सलाह देते हैं, आइये जानते हैं कि आखिर क्यों यह ओपन सर्जरी की तुलना में बेहतर विकल्प है-

मऊ में बवासीर की लेजर सर्जरीमऊ में बवासीर की ओपन सर्जरी
इलाज में कोई ब्लीडिंग नहींरक्तस्राव होता है
इलाज के बाद जख्म भरते समय कोई दर्द नहीं, 2 दिन में जख्म भर जाते हैंइलाज के बाद बहुत दर्द, जख्म भरने में 15 दिन तक का समय लग सकता है
पूरी प्रक्रिया 30 मिनट में खत्म हो जाती हैअधिक समय लगता है
एक दिन में अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया जाता हैअस्पताल से डिस्चार्ज होने में 1 सप्ताह तक का समय लग सकता है
रोगी दो दिन में अपने सभी साधारण काम कर सकता है15 दिन तक बेड रेस्ट की जरूरत होती है
सर्जरी के बाद लैट्रिन जाने में कोई परेशानी नहीं बहुत सी परेशानी और दर्द का सामना करना पड़ता है
इन्फेक्शन होने की बहुत कम संभावनाइन्फेक्शन होने का ख़तरा अधिक होता है
हमेशा के लिए बवासीर से छुटकारादोबारा हो सकता है
कुल खर्च कम होता हैकुल खर्च, खानपान में बदलाव आदि मिलाकर अधिक पैसा लगता है
खानपान में बदलाव करने की कोई जरूरत नहींबहुत परहेज करना पड़ता है

बवासीर का दर्द रहित उपचार के लिए स्पेशलिस्ट डॉक्टर इन मऊ

मऊ शहर में पाइल्स ट्रीटमेंट के लिए सबसे अच्छे गुदा रोग स्पेशलिस्ट का चयन करना एक चुनौतीपूर्ण कार्य है। हमारे जरिए आप इस कार्य को आसान बना सकते हैं। 

टॉप गुदा रोग स्पेशलिस्ट इन मऊ

  • डॉ. विजय निचानी
  • डॉ. संजय कुचेरिया
  • डॉ. अमिताभ गोयल
  • डॉ. देवेंद्र राघव

क्षार सूत्र  बनाम पाइल्स लेजर ट्रीटमेंट इन मऊ

  • क्षार सूत्र एक आयुर्वेदिक उपचार विधि है जबकि लेजर ट्रीटमेंट एडवांस मेडिकल तकनीक है।
  • क्षार सूत्र उपचार की प्रक्रिया का समय लम्बा होता है जबकि पाइल्स का लेजर ट्रीटमेंट पूरा होने में करीबन 30 मिनट का समय लगता है। 
  • लेजर ऑपरेशन में कोई कट या ब्लीडिंग नहीं होता है, जबकि बवासीर का क्षार सूत्र विधि से उपचार में कट या ब्लीडिंग होने की संभावना बहुत अधिक होती है।
  • क्षार सूत्र विधि से ट्रीटमेंट के लिए नियर मऊ गुदा रोग स्पेशलिस्ट की संख्या कम है, जबकि लेजर विधि से उपचार के लिए मऊ में बहुत से बवासीर स्पेशलिस्ट डॉक्टर मिल जाएंगे।
  • क्षार सूत्र से ऑपरेशन होने के बाद रोगी को कई सप्ताह तक आराम की जरूरत होगी, जबकि लेजर ऑपरेशन के दो दिन बाद से रोगी अपने सामान्य काम कर सकता है।
  • मलत्याग के समय दर्द होता है, लेजर उपचार विधि में ऐसा नहीं होता है। 

पाइल्स ट्रीटमेंट की कुल विधियाँ:

  • ओपन सर्जरी
  • लेजर सर्जरी
  • क्षार सूत्र
  • स्टेपलर सर्जरी

इन बिन्दुओं को जानने के बाद आपको अंदाजा हो गया होगा कि बवासीर का उपचार के लिए लेजर ऑपरेशन सर्वोत्तम विधि है।

यदि आप अपने बिजी लाइफस्टाइल में बेस्ट बवासीर डॉक्टर नियर मऊ से संपर्क करना चाहते हैं और बिना मेहनत किए ऑपरेशन चाहते हैं तो हम आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प हैं। 

और पढ़ें—

बवासीर कोई जटिल रोग नहीं है, लेकिन इसका ग्रेड बढ़ जाने पर यह असहनीय दर्द और सूजन का कारण बनता है। पाइल्स से ग्रसित होने पर लोग शर्मिंदगी महसूस करते हैं और दर्द को छुपा लेते हैं। इस आश में कि अपने आप ठीक हो जाएगा, यह अधिक जटिल हो जाता है।

इसलिए बवासीर होने पर आपको किसी अच्छे गुदा रोग विशेषज्ञ के पास जाकर निदान और ग्रेड के अनुसार उपचार कराना चाहिए।

मऊ में पाइल्स का आसान और दर्द रहित इलाज कराने के लिए आप हमें कॉल कर सकते हैं या फ्री अपॉइंटमेंट बुक कर सकते हैं। हम रोगी और रोग की स्थिति के अनुसार पाइल्स का उपचार दवा या लेजर ट्रीटमेंट के जरिए करते हैं।